तस्वीरें…

textgram_1556902715

#दिलसे #DilSe

शब्द…

textgram_1551508618

#दिलसे #DilSe

एहसास…

#दिलसे #DilSe

आँसू…

एक दौर था जब आँसू भी मेरे ना वो देख पाते थे,
आलम ये है की ज़िगर का खून भी पानी नज़र आता है।

#दिलसे

नया लिबास…

तुम से मिला इन दिनों तो
तुम, तुम सी नहीं लगी
सामने बैठी थी मेरे लेकिन
कितनी गम-सुम सी ही रहीं

दूर बहुत थे दोनों हम फिर भी
बस ये चाहा की खुश तुम रहो
हालात कैसे भी हो जीवन में
मुझ से बस कभी झूठ ना कहो

दिल खोल कर अपना रख दिया
बिन कुछ सोचे सब तुम्हे कहना
पहले सा सब था नहीं और
पड़ रहा था रोष तुम्हारा सहना

वक़्त के थपेड़ों ने शायद
तुम्हे मुझसे दूर कर दिया
कुछ नए लिबासों से तुम ने
पुराने रिश्तों को बदल लिया

#दिलसे

आग़ोश…

रात भर याद तुझे करता रहा
आग़ोश को तेरे तड़पता रहा,
तड़प ये उम्र भर की हो शायद
दिल फिर भी तेरे लिए मचलता रहा।

#दिलसे

अधिकार नहीं….

हाँ मेरा तुम पर अधिकार नहीं
जीवन में अब वो रस-धार नहीं,
जिन आँखों ने स्वपन सजोये थे
उन नैनों में अब अश्रुधार सही।

इस हृदय ने चाहा था तुम्हे कभी
वो पल हर-पल जैसे हो यहाँ अभी,
मन ने कितने ही थे जो महल बनाये
पग-पग में सब बिखरे धूमिल यहीं।

इन हाथों में थामें हाथ तुम्हारा प्रिये
कितने ही मौसम दोनों हम संग जिए,
नक़्शे खींचे थे कुछ जीवन की राहों के
जुदा मंज़िलों पर हम फिर चल दिए।

तुम्हे समझा पाने के सब प्रयत्नों से
दूर निकल चली तुम मेरे जतनों से,
विजयी ध्वज कुछ फहराने थे पर
जीवन में अब हार मिली तो हार सही।

#दिलसे

शिकायतें…

मोहब्बत में इतनी शिकायतें अच्छी नहीं होती,
दिल दुखता है देख तेरी आँखों से गिरते मोती।

मेरे ख़त..

खबर है मुझे की पढ़ता मेरे ख़तों को वो,
बस जवाबों को लिफ़ाफ़े में छुपा रखा है।
एहसासों को खुलकर बयान करता नहीं,
दिल के जानेे किसी कोने में दबा रखा है।

कश…

कश्मकश
कश
तीरे तरकश।
सुलगती
सिग्रेट
लबों पर।
उबलती
चाय
हर कश पर।
सुलगता
दिल
किसको फ़िक्र।
कटता
यूँही
जिंदगी का सफ़र।

You will never be mine…..

You will never be mine,
but I still love you.
Please listen to me,
you can’t go like this.
Do you understand,
how much you are being missed.

There was a time,
when you always waited for my calls.
Now even responding to a message,
for you is such a pain.
Please meet me once,
before you are gone.

With your dreams in my eyes,
how am I going to spend this life.
Can not ever stop thinking of you,
always felt we will make it through.
But with you losing all hope and moving on,
it feels life is finished and worth no more!

(Triggered by hearing one side conversation of a sweet little girl talking over phone to someone last evening in Delhi Metro, probably the one she loved to the core of her heart. She was almost of the verge of crying which disturbed me and can not still take off her my mind.)

Flame

aaj ki shairi

Just like that

reach out and touch someone.....

Umesh Kaul

Traveler!!!! on the road

What do you do Deepti

Exploring madness***

आज सिरहाने

लिखो, शान से!

abvishu

जो जीता हूँ उसे लिख देता हूँ

Bhav-Abhivykti

This blog is nothing but my experiences of life and my thoughts towards the world.

Ruchi Kokcha Writes...

The Shards of my Self

%d bloggers like this: