तन्हाई…

भीड़ में हैं अजीब तन्हाई है,
कैसी ये दुनिया हम ने बसाई है।

#दिलसे

50 posts !

How does it feels to have 50 posts on your blog?

Well, nothing great. Still have a long way to go; want to keep writing and sharing all my life. Never had any numbers in my mind when I started this blog, and no targets as such. Credit goes to people, situations which either inspired or gave me some food for thought and I tried my hand at either writing a short poem or few paragraphs on my point of view. Not to forget fellow bloggers, whom interesting posts I have re-blogged at times!

Thank you all for spending your valuable time on reading posts on my blog, and the words of encouragement.

22 Things Happy People Do Differently

Must Read!

बदलती हवा..

सुना है की हवाऔं का रूख फिर से बदलने लगा है,
दबा कुचला सा बैठा था जो पत्ता वो भी उड़ने लगा है।
दिन के उजाले में जो नज़र ना आता था,
स्याह सी काली रात मॆं भी वो जलने लगा है।
छुड़ा के हाथ किसी और राह पे जो चल पड़ा था,
फिर से मेरी राह पर साथ निभाने को खड़ा है।
तेरे हश्र का जिम्मा नही मेरा बोला था जिसने,
मेरी किस्मत को आज वो फिर से पलटने चला है।
चीख सुनकर भी मेरी जो बढ़ जाता था आगे,
आज मेरी हर आहट पे वो सांसे अपनी थामे खड़ा है।
मेरे हाल से रहा जो इतने दिनो बेखबर,
आज मेरा भगवान बनने की जिद्द पर अड़ा है।

Just like that

reach out and touch someone.....

Umesh Kaul

Traveler!!!! on the road

Yes I am "Deepti"

I am proud to be **

Aaj Sirhaane

aaiye, kuchh likhte hain..

abvishu

जो जीता हूँ उसे लिख देता हूँ

angelalimaq

food, travel and musings of a TV presenter.

Bhav-Abhivykti

This blog is nothing but my experiences of life and my thoughts towards the world.

%d bloggers like this: