चाय…

textgram_1563294653

#दिलसे #DilSe

तुम…

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Photo Credit : @yourworldmylens (Instagram)

तुम तुम्हारी शरारती हँसी,
और हमारी कभी न ख़त्म होने वाली बातें।
अनगिनत चाय की प्यालियां,
और तेरे कान की वो बालियां।
मेरा तुझे देखकर मुस्कुराना,
आँखों से पूछ कर सवाल तेरा शर्माना।
मेरा बात-बात पर नाराज़ होना,
और तेरा हर बार मुझे मना पाना।
तेरा वो कोशिश करना थामने की मेरा हाथ,
और मेरा हंसी में उड़ा देना हर बात।
वो हमारे ख़्वाब और उम्मीद से भरी बात,
सुबह के इंतज़ार में काटी हर रात।
जाने क्यों ख़्वाब वो पानी के बुलबुले से हुए,
एक पल में उभरे दूसरे पल कहीं खो गए।

#दिलसे

कश…

कश्मकश
कश
तीरे तरकश।
सुलगती
सिग्रेट
लबों पर।
उबलती
चाय
हर कश पर।
सुलगता
दिल
किसको फ़िक्र।
कटता
यूँही
जिंदगी का सफ़र।

Innocent life on the streets..

This slideshow requires JavaScript.

Brother’s out on the street, all they asked for was something to eat and a cup of tea. And this was the least I could do, which made them feel so happy!

Flame

aaj ki shairi

Candid Conversations by Rinku Bhardwaj

My honest take on personal excellence, a journey of becoming better version of myself through my experiences, interactions or readings!

Umesh Kaul

Traveler!!!! on the road

What do you do Deepti

Exploring madness***

आज सिरहाने

लिखो, शान से!

abvishu

जो जीता हूँ उसे लिख देता हूँ

Bhav-Abhivykti

This blog is nothing but my experiences of life and my thoughts towards the world.

Ruchi Kokcha Writes...

The Shards of my Self

%d bloggers like this: